एनडीडीबी डेरी उत्‍कृष्‍टता पुरस्‍कार, 2017-18

यहां आवेदन करें

भारत, विश्व के दूध उत्पादन में लगभग 20 प्रतिशत योगदान के साथ विश्व का सबसे बड़ा दूध उत्पादक देश है |  इस विशेष सफलता का श्रेय लाखों दूध उत्पादकों को जाता है, उनमें ज्यादातर डेरी क्षेत्र में कार्यान्वित छोटे, सीमांत किसान और भूमिहीन परिवार और विशेष रूप से ग्रामीण महिलाएं शामिल हैं।

उत्पादक स्वामित्व वाली संस्थाओं (पी.ओ.आई.) ने देश में डेरी में बदलाव लाने, लाखों डेरी किसानों को विशेष रूप से महिलाओं को सशक्त बनाने, आजीविका के स्थायी स्रोत में वृद्धि करने और ग्रामीण विकास को गति देने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। आज, इन्हीं लाखों डेरी किसानों के कारण, हमारा देश न सिर्फ दूध उत्पादन में आत्मनिर्भर बना है, बल्कि विश्व का सबसे बड़ा दूध उत्पादक देश भी बन पाया है। दूध सहकारी समितियां और उत्पादक कंपनियां आम तौर पर दूध उत्पादकों की आय को अधिक से अधिक बढ़ाने के सिद्धांत पर काम करती हैं, इन्हीं उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए उत्पादक सदस्यों को बिक्री से प्राप्त आय का उचित शेयर हस्तांतरित किया जा रहा है, जिसके परिणामस्वरूप दूध उत्पादकों को वर्ष भर आय उपलब्ध हो रही है।

वर्तमान में, भारतीय डेरी क्षेत्र में 200 से अधिक उत्पादक स्वामित्व वाली संस्थाएं कार्यरत हैं। उनके पास 2 लाख गांव स्तर की संस्थाओं का नेटवर्क है, जो 170 लाख दूध उत्पादकों की पहुंच में हैं। 2017-18 के दौरान उन्होंने प्रतिदिन लगभग 502 लाख किलोग्राम दूध का संकलन किया है। अपने उत्पादक सदस्यों के अधिशेष दूध संकलन के अलावा, वे पशु प्रजनन, पशु पोषण और पशु स्वास्थ्य के क्षेत्र में कई प्रकार की इनपुट सेवाएं प्रदान करती हैं जिससे पशु की दूध उत्पादकता में वृद्धि करने और लागत में कमी लाने में योगदान मिलता है।

अपने व्यवसाय संचालन में प्रबंधन उत्कृष्टता के लिए पीओआई के प्रयासों को मान्यता देने के लिए, एनडीडीबी ने "एनडीडीबी डेरी उत्कृष्टता पुरस्कार" की शुरुआत की है। पिछले वर्ष (2016-17) में, एनडीडीबी ने 26 सितंबर 2017 को विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए थे।

अब, डेरी व्यवसाय प्रबंधन, महिला सशक्तिकरण, और 2017-18 के दौरान अपने व्यावसायिक संचालन में डिजिटल भुगतान प्रणाली को अपनाने के लिए पीओआई के प्रदर्शन को मान्यता देने के लिए, 2017-18 के लिए "एनडीडीबी डेरी उत्कृष्टता पुरस्कार" का शुभारंभ किया गया है। 

एनडीडीबी डेरी उत्कृष्टता पुरस्कार – 2017-18

प्रबंधन उत्कृष्टता पुरस्कार:

पीओआई की तीन श्रेणियां होंगी- क) बड़े संगठन (5 लाकिग्राप्रदि से अधिक दूध का संकलन), ख) मध्यम संगठन (1 से 5 लाकिग्राप्रदि के बीच दूध का संकलन), और ग) छोटे संगठन  (1 लाकिग्राप्रदि से कम दूध का संकलन)। प्रत्येक श्रेणी के तहत, राष्ट्रीय स्तर पर दो संगठन, (प्रथम स्थान और द्वितीय स्थान) और क्षेत्रीय स्तर (अर्थात् उत्तर, दक्षिण, पूर्व और पश्चिम) में एक संगठन को सम्मानित किया जाएगा। राष्ट्रीय स्तर प्रथम स्थान को रु. 5 लाख और द्वितीय स्थान को रु. 2 लाख नकद पुरस्कार और प्रशस्तिपत्र से सम्मानित किया जाएगा और क्षेत्रीय स्तर पर नकद पुरस्कार रु.1 लाख के साथ उत्कृष्टता प्रमाणपत्र प्रत्येक क्षेत्र में से एक विजेता संगठन को दिया जाएगा।

 

 

राष्ट्रीय स्तर पर चुने गए संगठन क्षेत्रीय स्तर के पुरस्कारों के लिए योग्य नहीं होंगे।     2016-17 के दौरान किसी पुरस्कार श्रेणी में पहली स्थान हासिल करने वाले संगठनों को वर्ष 2017-18 के लिए उसी श्रेणी/स्तर के तहत नहीं योग्य नहीं माना जाएगा। एनडीडीबी-डेयरी उत्कृष्टता पुरस्कार, 2016-17 की विभिन्न श्रेणियों में प्रथम पुरस्कार प्राप्त करने वाले संस्थाओं की सूची निम्नानुसार है :

 

क्र. सं.

श्रेणी

राष्ट्रीय स्तर (प्रथम पुरस्कार)

क्षेत्रीय स्तर (प्रथम पुरस्कार)

क.    मुख्य श्रेणी (प्रबंधन उत्कृष्टता पुरस्कार)

1

बड़े संगठन (5 लाकिग्राप्रदि से अधिक दूध का संकलन)

बनासकांठा जिला सहकारी दुग्ध उत्पादक संघ लिमिटेड

पश्चिमी क्षेत्र - साबरकांठा जिला सहकारी दुग्ध उत्पादक संघ लिमिटेड

उत्तरी क्षेत्र - जयपुर जिला दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लिमिटेड

दक्षिणी क्षेत्र - बेंगलुरु शहरी, बेंगलुरु ग्रामीण एवं रामानगरा जिला सहकारी दुग्ध उत्पादक संघ लिमिटेड

2

मध्यम संगठन (1 से 5 लाकिग्राप्रदि के बीच दूध का संकलन)

भीलवाड़ा जिला दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लिमिटेड

पूर्वी क्षेत्र – देशरत्न डॉ. राजेंद्र प्रसाद दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लिमिटेड

पश्चिमी क्षेत्र - राजारामबापू पाटील सहकारी दूध संघ लिमिटेड

उत्तरी क्षेत्र - रोपड़ जिला सहकारी दुग्ध उत्पादक संघ लिमिटेड

दक्षिणी क्षेत्र - शिवमोग्गा, दावणगेरे एवं चित्रदुर्ग जिला सहकारी दुग्ध उत्पादक संघ लिमिटेड

3

छोटे संगठन  (1 लाकिग्राप्रदि से कम दूध का संकलन)

मुलुकानूर महिला म्युचुअली एडेड दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लिमिटेड

पूर्वी क्षेत्र – ईछामती सहकारी दुग्ध उत्पादक संघ लिमिटेड

पश्चिमी क्षेत्र - गोवा राज्य सहकारी दुग्ध उत्पादक संघ लिमिटेड

उत्तरी क्षेत्र - कोटा जिला दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लिमिटेड

दक्षिणी क्षेत्र - पुदुक्कोट्टई जिला सहकारी दुग्ध उत्पादक संघ लिमिटेड

ख.    विशेष पुरस्कार

1

उत्तर-पूर्वी राज्यों के लिए पुरस्कार

सिक्किम सहकारी दुग्ध उत्पादक संघ लिमिटेड

2

सबसे अधिक संख्या मे क्रियाशील महिला डेरी सहकारी समितियाँ

जयपुर जिला दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लिमिटेड

3

सबसे अधिक संख्या मे महिला सदस्यता

कोल्हापूर जिला सहकारी दूध उत्पादक संघ लिमिटेड

विशेष पुरस्कार:

तीन श्रेणियों के अंतर्गत विशेष पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे:

विशेष पुरस्कार - महिला सशक्तिकरण

इस श्रेणी में, 3 पुरस्कारों से सम्मानित किया जाएगा क) कार्यशील महिला डीसीएस की सर्वोच्च संख्या, ख) कार्यशील महिला सदस्यता की सर्वोच्च संख्या, और ग) पिछले 5 वर्षो में महिला सदस्यता में सबसे अधिक वृद्धि। प्रत्येक श्रेणी में एक संगठन को नकद पुरस्कार   रु. 3 लाख तथा प्रशस्तिपत्र से सम्मानित किया जाएगा।

 

 

विशेष पुरस्कार - डिजिटल भुगतान

दूध उत्पादक सदस्यों के बीच नकद रहित लेन-देन को बढ़ावा देने और दूध बिल भुगतान में पारदर्शिता लाने के लिए, डिजिटल भुगतान प्रणाली को अपनाने में पीओआई के प्रयासों को मान्यता देने के लिए, 'डिजिटल भुगतान - सीधे बैंक खातों के माध्यम से दूध उत्पादकों को भुगतान' के लिए 2 संगठनों को एक विशेष पुरस्कार दिया जाएगा । प्रथम स्थान के लिए रु. 2 लाख और द्वितीय स्थान के लिए रु. 1 लाख की नकद राशि और प्रशस्तिपत्र से सम्मानित किया जाएगा।

 

 

विशेष पुरस्कार - पूर्वोत्तर राज्य: 

देश के पूर्वोत्तर क्षेत्र में डेरी सहकारी गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए, पूर्वोत्तर राज्यों को एक विशेष पुरस्कार दिया जाएगा। विजेता को नकद पुरस्कार रु.1 लाख और योग्यता प्रमाण- पत्र दिया जाएगा।

 

पात्रता मापदंड:

प्रतिभागी संगठन को यह जरूरी है कि:

1.  दूध उत्पादकों के स्वामित्व वाली और नियंत्रित जिला / तालुका / तहसील स्तर की दूध सहकारी अथबा उत्पादक कंपनी

2.  पिछले वित्तीय वर्ष में शुद्ध लाभ (अर्थात लेखा परीक्षित वित्तीय विवरण 2017-18) और

3.  5 से अधिक वर्ष तक परिचालन

 

पुरस्कार प्रक्रिया :

 

 

वेब पोर्टल के लिए लॉगिन आईडी और पीओआई से संबंधित पासवर्ड आधिकारिक ईमेल आईडी पर भेजा गया है। कृपया प्रश्नावली भरें और 1 अक्टूबर, 2018 तक अपनी प्रविष्टि जमा करें।

किसी भी स्पष्टीकरण के लिए कृपया श्री राजेश गुप्ता, उप महाप्रबंधक (सहकारिता सेवाएं) ईमेल: rajgupta@nddb.coop अथवा श्री कान्हु चरण बेहेरा, प्रबंधक (एफपीएस), ईमेल: kcbehera@nddb.coop से संपर्क करें ।