अध्‍यक्ष, एनडीडीबी ने केंद्रीय वित्‍त मंत्री के बजट पूर्व विचार-विमर्श में भाग लिया

अध्‍यक्ष, एनडीडीबी ने केंद्रीय वित्‍त मंत्री के बजट पूर्व विचार-विमर्श में भाग लिया

 

आणंद, 12 जून 2019: श्रीमती निर्मला सीतारामन, केंद्रीय वित्‍त मंत्री ने नार्थ ब्‍लॉक, नई दिल्‍ली में 11 जून 2019 को कृषि एवं ग्रामीण विकास पर आयोजित बजट पूर्व विचार-विमर्श के दौरान कृषि एवं ग्रामीण विकास से संबंधित हितधारक समूहों से मुलाकात की । वित्‍त मंत्री ने ग्रामीण क्षेत्र के सामाजिक-आर्थिक बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देने तथा कृषि एवं संबद्ध क्षेत्रों के साथ-साथ गैर कृषि क्षेत्र के विकास के माध्‍यम से बेरोजगारी एवं गरीबी उन्‍मूलन के उपायों के बारे में उनके विचार लिए ।

श्री दिलीप रथ, अध्‍यक्ष, एनडीडीबी ने डेरी से संबंधित सामग्रियों पर प्रत्‍यक्ष एवं अप्रत्‍यक्ष करों को युक्तिसंगत करने, घी एवं फ्लेवर्ड दूध, प्रजनन सामग्रियों पर जीएसटी को कम करने, गोवंशीय जर्मप्‍लाज्‍म पर आयात शुल्‍क में कमी लाने, निर्यात प्रोत्‍साहनों में वृद्धि करने, डेरी किसानों एवं दूध उत्‍पादक संस्‍थाओं की आय को आयकर से छूट देने, डीआईडीएफ योजना पर ब्‍याज में छूट बढ़ाने, जीका/विश्‍व बैंक के सहयोग से नई डेरी विकास की योजनाओं का शुभारंभ करने तथा राष्‍ट्रीय स्‍कूल दूध कार्यक्रम की शुरूआत करने का अनुरोध किया । उन्‍होंने एनडीडीबी को सहकारी मॉडल पर ग्रिड से जुड़े सौर सिंचाई पम्‍प तथा बायोगैस/स्‍लरी (गोबर घोल) निर्माण के लिए कार्यान्‍वयन एजेंसी बनाए जाने का भी अनुरोध किया,  जिससे आगामी वर्षों में डेरी क्षेत्र में विकास की गति को कायम रखा जा सके ।    

वित्‍त मंत्री के साथ, वित्‍त एवं कार्पोरेट कार्य मंत्री, भारत सरकार; वित्‍त, व्‍यय, राजस्‍व, डीएफएस; कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्‍याण; एएचएंडडी; ग्रामीण विकास; मत्‍स्‍यपालन विभाग के सचिव; डीजी, आईसीएआर; मुख्‍य आर्थिक सलाहकार, अध्‍यक्ष, सीबीडीटी तथा नीति आयोग के सदस्‍य उपस्थित थे ।